THIS WEBSITE IS FORMALY KNOWN AS TRA NOHAR BLOG BY MAHESH CHANDER KAUSHIK TRA

Friday, August 21, 2015

निजि क्षेत्र के बैंक व जिला सरकारी बैंक भी करवा सकते हैं राको रोड़ा एक्ट में वसूली (RACO(RODA) act 1974 is applicable for private bank and co-operative bank)

 तहसील कार्यालयों में जब निजी क्षेत्र के बैंक व जिला सहकारी बैंक (कोपरेटीव बैंक) के दर्ज करवाने के लिए सम्पर्क करते है तो राजस्व अधिकारी इन प्रकरणों को दर्ज करने से यह कहते हुए ईकारं कर देते हैं कि राको (रोड़ा) एक्ट 1974 केवल सरकारी (सार्वजनिक) क्षेत्र के बैंकों पर ही लागु होता है।
   इस विसगंति को दुर करने के लिए हम राज्य सरकार के राजस्व (मुद्रा-6) विभाग के पत्र क्रमाकं प.क्र-3(2) राज-6/08 जयपुर दिनांक 08.08.08 की कोपी उपलब्ध करवा रहे हैं जिसमें राको (रोड़ा) एक्ट में निजी व सरकारी बैंकों के प्रकरणों में भी कार्यवायी करने के आदेश दिए जा चुके हैं। 

परिपत्र डाउनलोड करने का तरीकाः- परिपत्र स्कैन इमेज के रूप में है आप सबंधित इमेज पर राईट क्लीक करके उसे सेव कर सकतें है या प्रिन्ट ले सकते है।
Download Roda Act 1974 in Hindi from this link

Tuesday, August 18, 2015

तहसीलदार रूपान्तरण के मामलों में 50,000 तक रिफंड करने में सक्षम। (Powers for refund of conversion charges in Rajasthan)

हाल ही में वित विभाग ने तहसीलदारों को रूपान्तरण के मामलों में 50,000 तक रिफंड करने की शक्तियां दे दी है। उपखण्ड अधिकारियों को 1 लाख तक व जिला कलेक्टरों को सम्पूर्ण शक्तियों है। रिफडं बिल फार्म सं जी.ए.100 में तैयार होता है ।(पुराना फार्म न.जी.ए.117)
 संबधित वित विभाग के आदेश क्रमाकं वित/साविलेनि/98 जयपुर दिनांक 01.01.2013 सामान्य वितीय एवं लेखा नियम अनुभाग के परिपत्र सं. 1/2013 की प्रतिलिपि एवं रिफडं बिल तैयार करने के आदेश का प्रोफार्मा एवं रिफडं ओर्डर जारी करने का नमूना यहां तहसीलदारों व उपखण्ड कार्यालयों की सुविधा हेतु उपल्बध करवाया जा रहा है।
 परिपत्र डाउनलोड करने का तरीकाः- परिपत्र स्कैन इमेज के रूप में है आप सबंधित इमेज पर राईट क्लीक करके उसे सेव कर सकतें है या प्रिन्ट ले सकते है।



 सम्पूर्ण रूपान्तरण नियम 2007 हिन्दी व इगंलिश में डाउनलोउ करने के लिए निम्प लिकं पर जावें

Tuesday, August 11, 2015

राजस्थान में कृषि भूमि के अकृषि प्रयोजनार्य संपरिवर्तन हेतु प्राधिकृत अधिकारियों की शक्तियाँ Powers of revenue officials to convert a land in rajasthan

राजस्थान भू राजस्व  ग्रामीण क्षेत्रो मे कृषि भूमि का अकृषिक प्रयोजनो के लिए संपरिवर्तन   नियम 2007 RAJASTHAN LAND REVENUE (CONVERSION OF AGRICULTURE LAND FOR NON AGRICULTURE PURPOSE)RULE 2007 के  तहत कृषि भूमि के अकृषि प्रयोजन हेतु संपरिवर्तन करने के लिए विहित प्राधिकारियों भी शक्तियों का विवरण दिया गया है जो कि निम्न प्रकार से है
(क)  आवासीय इकाई  
 तहसीलदार जहां क्षेत्र ख्2,500, वर्ग
  मीटर तक है,
(ख)      आवासीय काॅलोनी 
/ परियोजना       
  (1) उपखण्ड अधिकारी, जहां कुल क्षेत्र
5,000 वर्ग मीटर से अधिक न हो ।
 (2) कलक्टर, जहां कुल क्षेत्र 50,000
     वर्ग मीटर से अधिक नहीं है,
 (3) राज्य सरकार, जहां कुल क्षेत्र
  50,000 वर्ग मीटर से अधिक  / परियोजना 
(ग)    वाणिज्यिक प्रयोजन 
(1) उपखण्ड अधिकारी, जहां कुल क्षेत्र
1000 वर्ग मीटर से अधिक नहीं हैं,
सिनेमा, पेट्रोल पम्प, बारूदशाला,
मल्टीप्लेस, होटल, रिसोर्ट को छोड़कर,
(2) कलेक्टर, जहां वाणिज्यिक
प्रयोजन के कुल क्षेत्र 10,000 वर्ग
 मीटर से अधिक नहीं है,
(3) राज्य सरकार, जहां वाणिज्यिक
 प्रयोजन के कुल क्षेत्र  10,000 वर्ग
 मीटर से अधिक हैं. 
(घ)   औद्योगिक क्षेत्र / औद्योगिक
(1) उपखण्ड अधिकारी, जहां कुल
 क्षेत्र 50,000 वर्ग मीटर से अधिक
प्रयोजन नहीं
है, पर्यटन इकाई को छोड़कर,
(2) कलक्टर, जहां कुल क्षेत्र
1,00,000 मीटर वर्ग मीटर से
 अधिक नहीं है, पर्यटन इकाई को छोड़कर ,
(3) राज्य सरकार, जहां सभी
 वर्गो सहित कुल क्षेत्र 1,00,000
वर्ग मीटर से अधिक है,
 (ड़)    नमक विनिर्माण प्रयोजन
(1) उपखण्ड अधिकारी, जहां
कुल क्षेत्र 2,00,000 वर्ग
मीटर से अधिक नहीं है,
(2) कलक्टर, जहां कुल
क्षेत्र 2,00,000 वर्ग मीटर
 से अधिक नहीं है,
(च)   लोकोपयोगी प्रयोजन   
(1) उपखण्ड अधिकारी,
जहां कुल क्षेत्र 5,000 वर्ग
 मीटर से अधिक है,
(2) कलक्टर, जहां कुल
 क्षेत्र 50,000 वर्ग मीटर
 से अधिक नहीं है,
(3) राज्य सरकार, जहां
 कुल क्षेत्र 50,000 वर्ग
मीटर से अधिक है,
(छ)   संस्थागत सम्बन्धी
 प्रयोजन और चिकित्सा
 सुविधायें 
(1) उपखण्ड अधिकारी,
जहां कुल क्षेत्र 2,500 वर्ग
मीटर से अधिक नहीं हो ।
(2) जिला कलेक्टर, जहां
कुल क्षेत्रफल 10,000 वर्ग
मीटर से अधिक नहीं हो ।
(3) राज्य सरकार, जहां
कुल क्षेत्रफल 10,000 वर्ग
मीटर से अधिक हो । 
(ज)    विशेष आर्थिक परिक्षेत्र
राज्य सरकार  
(झ)    कृषि प्रसंस्करण या
 कृषि कारबार 
इकाई 
(1) उपखण्ड अधिकारी,
जहां कुल क्षेत्र 10 हैक्टेयर
से अधिक नहीं हो,
(2) कलेक्टर, जहां क्षेत्र
10 हैक्टेयर से अधिक हो ।
(3) उपखण्ड अधिकारी, जहां कुल
 क्षेत्र 10 हैक्टेयर से अधिक नहीं हो
(×k)      सोलर/वायु/बायोमास/
            पावर प्लांट
    (1) उपखण्ड अधिकारी, जहां
 कुल क्षेत्र 50,000 वर्गमीटर से
 अधिक नहीं हो ।
(2) कलेक्टर, जहां कुल
क्षेत्र 1,00,000 वर्ग मीटर से अधिक नहीं हो ।
(3) राज्य सरकार, समस्त
प्रकरण जहां कुल क्षेत्र 1,00,000
 वर्गमीटर से अधिक हो ।
राजस्थान भू राजस्व ( ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि भूमि का अकृषि प्रयोजनों के लिए संपरिवर्तन नियम 2007 पीडीएफ फाईल के रूप में डाउनलोड करने के लिए निम्न लिकं पर जावें - 
Rajasthan land revenue conversion of agriculture land for non agriculture purpose Ruls 2007 


Monday, August 10, 2015

राजस्थान भू राजस्व (ग्रामीण क्षेत्रो मे कृषि भूमि का अकृषिक प्रयोजनो के लिए संपरिवर्तन ) नियम 2007 DOWNLOAD RAJASTHAN LAND REVENUE (CONVERSION OF AGRICULTURE LAND FOR NON AGRICULTURE PURPOSE)RULE 2007 IN HINDI हिन्दी में डाउनलोड करें

ग्रामीण रूपान्तरण नियम 2007 अर्थात राजस्थान भू राजस्व (ग्रामीण क्षेत्रो मे कृषि भूमि का अकृषिक प्रयोजनो के लिए संपरिवर्तन ) नियम 2007 RAJASTHAN LAND REVENUE (CONVERSION OF AGRICULTURE LAND FOR NON AGRICULTURE PURPOSE)RULE 2007 का हिन्दी में वर्जन बहुत कम उपल्ब्ध हैइसलिए राजस्थान के राजपत्र में अधि सं अधि सं.6(6)रेवे.6/92/14 जी.एस.आर. 1.दिनांक 2.04.2007 ( Notification number 6 (6) Rev.6/92/14 GSR dated 02.04.2007 ) द्वारा राज. राजपत्र विशेषांक भाग 4(स)(1) दिनांक 03.04.2007 द्वारा प्रकाशित हिन्दी संपरिवर्तन नियम 2007 ( conversion rules 2007 in hindi ) यहां उपलब्ध करवाने जा रहे हैं। 
निम्न लिकं पर क्लीक करके आप इन नियमों को हिन्दी में पीडीएफ फाईल के रूप में डाउनलोड कर सकते हैं। हमनें नियम जहां तक हो सके शुद्व रूप में उपलब्ध करवाने का प्रयास किया है फिर भी किसी विद्वान साथी के परिज्ञान में कोई त्रुटी आने तो कमेन्ट में अवगत कराने का कष्ट करावें ताकि आगामी वर्जन में सुधार किया जा सके 
 डाउनलोड लिकंः- RAJASTHAN LAND REVENUE (CONVERSION OF AGRICULTURE LAND FOR NON AGRICULTURE PURPOSE)RULE 2007 IN HINDI 


Tuesday, June 30, 2015

जन्म मृत्यु के रजिस्ट्रेशन हेतु कार्यपालक मजिस्ट्रेटो द्वारा ध्यान रखने योग्य बिन्दु / नियम ( Rules for verification of birth / death certificate by executive magistrate )

1.एक वर्ष से पुरानी जन्म मृत्यू की घटनाओ के रजिस्ट्रीकरण के लिए तहसीलदार ( कार्यपालक मजिस्ट्रेट ) द्वारा घटना का सत्यापन किये जाने के बाद कार्यपालक मजिस्ट्रेट द्वारा दिए गये आदेश पर उक्त जन्म / मृत्यू का रजिस्ट्रीकरण किया जा सकता है । Registration of  birth / death events which is more then one year old require a verification by first class magistrate or executive magistrate.
 2.यहां कार्यपालक मजिस्ट्रेटो ( तहसीलदारो ) द्वारा ध्यान रखने योग्य बिन्दू यह है कि एक वर्ष से पुरानी घटनाओ मे ही उनके आदेश की जरूरत है नवीन घटनाओ जो 1 वर्ष से भीतर की हो उनमे ऐसे सत्यापन की आवश्यकता नही है । No verification by executive magistrate is needed where event of birth / death is within one year.
 3.ज्यादातर तहसीलदार प्रार्थि द्वारा पेश शपथ पत्र के सत्यापन को ही घटना की शुद्वता /  सत्यता का सत्यापन मानते है जबकि घटना की शुद्वता / सत्यता का सत्यापन करने के लिए घटना का पूर्ण वर्णन कार्यपालक मजिस्ट्रेट के सम्मुख पेश करने के प्रावधान है । Only affidavit verification is not sufficient for verification of more than 1 year old birth / death event.

 4.यहां भारत सरकार के महारजिस्ट्रार कार्यालय नई दिल्ली का पत्रांक 1/20/2002-जीवनांक ( सी.आर.एस. ) राज. दिनांक 05.11.2004 मे स्पष्ट मार्गदर्शन दिया गया है कि जन्म एवं मृत्यू रजिस्ट्रीकरण अधिनियम 1969 की धारा 13(3) एवं तत्सबंधि राज्य नियम 7 के तहत जिस जन्म मृत्यू की घटना का एक वर्ष के भीतर पंजीकरण नही हुआ है ऐसी घटना को पंजीकृत किए जाने के आदश दिए जाने के पूर्व सूचनाओ की शुद्वता / सत्यता के सत्यापन हेतु मजिस्ट्रेट किसी भी दस्तावेज की मांग कर सकते है या उसकी जांच करवा सकते है । ( Registrar general of India new Delhi letter no. 1/20/2002- Jivanank ( C.R.S. ) gov. dated 5.11.2004 )
( birth and death registration act 1969 )
( click here to download this article )
 राजस्थान सरकार के आर्थिक एवं सांख्यिकी निदेशालय का इस प्रसंग मे जिला कलेक्टरो को लिखा गया पत्र आप निम्न फोटो पर क्लीक करके सेव कर सकते है था प्रिन्ट ले सकते है । ( click on image below to download copy of Rajsthan Government Directorate of economic and statics )



Friday, February 28, 2014

नायब तहसीलदार के 210 पदों पर होगी सीधी भर्ती Direct recruitment of Naib Tehsildar in Rajasthan

 प्रिय साथियों, 

अभी तक नायब तहसीलदार के पद आरएएस परीक्षा के साथ में ही भरे जाते थे परन्तु पहली बार ऐसी संभावना बन रही है कि आरपीएससी नायब तहसीलदार के 210 पदों के लिये सीधी भर्ती निकालने वाला है यह खबर उन अर्भथियों में उत्साह भर सकती है जो भूअनि परीक्षा में पास नहीं हो सके ।
इस विषय में मुझे एक सच्ची घटना याद आ रही है एक व्यक्ति रायसिंहनगर के एक निजी अस्पताल में कम्पाउंडर था जो आरएएस परीक्षा देता था व फेल हो जाता था इस पर उसके साथियों ने जब उसकी हंसी उड़ायी तो वो बोला कि भगवान जो करता है वो भले के लिये ही करता है मेरे भाग्य में शायद आईएएस बनना लिखा है इसलिये मैं आज से आईएएस की तैयारी ही करूंगा व आरएएस की परीक्षा ही नहीं दूंगा उस व्यक्ति ने आईएएस की तैयारी की व उसमें पास हुआ तथा आज वो आईएएस के रूप में पदस्थापित है । 
इसलिये जो पटवारी साथी भूअनि नहीं बन सके उनके लिये 210 नायब तहसीलदारों की सीधी भर्ती आरपीएससी से मार्च में आने की संभावना है तथा नोटस इस वेवबसाईट पर समय समय पर डाले जाते रहेगें। 
लम्बे समय से मैने इस वेबसाईट को अपडेट करना बंद कर दिया था क्यों कि भूअनि परीक्षा में जो कुछ हुआ ( मेरा एक खास शिष्य पटवारी रामलाल भूअनि परीक्षा में फेल हो गया )उससे मेरा मन खराब हो गया था परन्तु अब बीती ताही बिसार देई आगे कि सुधि लेई के सिद्धान्त पर इस वेबसाईट को पुन अपडेट करना प्रारंभ किया है कि रामलाल को नायब तहसीलदार बनायेगें। इसमें शीघ्र ही भूअनि परीक्षा के लिये भी नये नोटस व विभाग के परिपत्र आदि भी डाले जावेगें।
Direct recruitment of Naib Tehsildar in Rajasthan March 2014 RPSC, Rajasthan Naib Tehsildar exam 2014, Notes Rajasthan Naib tehsildar exam 2014

Tuesday, March 20, 2012

पटवारी भूअनि व नायब तहसीलदार ट्रेनिंग के लिये राजस्व कानुन सार सक्षेंप में। Shoret Notes of Revenue law in Rajasthan

निम्न लिंक से आप राजस्थान भू अभिलेख नियम 1957 राजस्थान भु राजस्व अधिनियम 1956 व राजस्थान काश्तकारी कानुन का सार संक्षेप डाउनलोड कर सकते हैं।

I make hindi notes on rajasthan tenancy act 1955 and land revenue act 1956 plus Rajasthan land record rules 1957 so these notes are complete and easy notes for patwari  ilr Naib tehsildar Traning.
these notes are also famous as girdavar chalisa


CLICK HERE TO DOWNLOAD NEW NOTES

उपयोगिताः-
पटवार ट्रेनिंग
 भूअनि व नायब तहसीलदार ट्रेनिंग
नवीन पदस्थापित पटवारी भूअनि नायब तहसीलदार व तहसीलदारों के रेफरेन्स के लिये।
राजस्थान में पदस्थापित नवीन आई ए एस के लिये रेफरेन्स हेतु।
Your
Mahesh chander kaushik TRA